November 23, 2020

महामृत्युंजय मंत्र Hindi lyrics video stetus



महामृत्युंजय मंत्र

त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम्‌। उर्वारुकमिव बन्धनान्मृत्योर्मुक्षीय माऽमृतात्‌॥

• त्रयंबकम् = त्रि-नेत्रों वाला

• यजामहे = हम पूजते हैं, सम्मान करते हैं।

• सुगंधिम = सुगंधित

• पुष्टिः = समृद्ध जीवन की परिपूर्णता

• वर्धनम् = जो वृद्धि करता है ( स्वास्थ्य, धन, सुख और आनंद)

• उर्वारुकम = ककड़ी (कर्मकारक)

• इव = जैसे, इस तरह

• बन्धनात = तना

• मृत्योः = मृत्यु से

• मुक्षीय = हमें स्वतंत्र करें, मुक्ति दें

• मा = न

• अमृतात = अमरता, मोक्ष

source

Comments

comments